Wednesday, February 21, 2024
spot_img
HomeDiseases and TreatmentAyurvedic Remedy for Typhoid Fever

Ayurvedic Remedy for Typhoid Fever

क्या आपको ठण्ड लगने के साथ फीवर आ रहा है ?

Ayurvedic Remedy for Typhoid Fever अगर हां तो हो जाइये सावधान क्यूंकि ये सभी लक्षण टाइफाइड के हो सकते है। और टाइफाइड का उपचार समय रहते न किया जाये तो यह जानलेवा भी हो सकता है।

आज Article में हम टाइफाइड से छुटकारा दिलाने वाली विश्वसनीय आयुर्वेदिक रेमेडी के बारे में बताएंगे इसलिए Article के साथ अंत तक बने रहिये।

Ayurvedic Remedy for Typhoid Fever बारिश के मौसम के दौरान टाइफाइड फीवर किसी संक्रमित बीमारी की तरह फैलता है जिसे मियादी बुखार के नाम से भी जाना जाता है।

यह फीवर बैक्टीरिया की मदद से  DIGESTIVE TRACT और BLOODSTREAM को INFECT कर देता है। CONTAMINATED यानी दूषित भोजन और पानी के साथ मिलकर ये बैक्टीरिया हमारे शरीर के अंदर प्रवेश करता है।

2 Superfoods To Avoid Menorrhagia

संक्रमण बहुत अधिक हो जाने पर 3 से 5 फीसदी लोग इस बीमारी के शिकार हो जाते हैं। इसलिए टाइफाइड के इलाज में जरा भी लापरवाही नहीं बरतनी चाह‌ए।

WHO के अनुसार हर साल अनुमानित 11-20 मिलियन लोग टाइफाइड से बीमार पड़ते है जिसमे लगभग 2 लाख लोग इस बुखार के कारन मृत्यु का शिकार हो जाते हैं।

आमतौर पर टाइफाइड के लक्षण संक्रमण होने के 1 से 3 हफ्ते के अंदर विकसित होने लगते है। जिसमे तेज़ बुखार, सिरदर्द, थकान, LOSS OF APPETITE, पेट में दर्द, डायरिआ जैसे लक्षण देखे जाते है। टाइफाइड का इलाज समय पर न होने पर BLOODY डायरिया, आतों से खून आना जैसे severe लक्षण भी देखने को मिलते हैं।

Online Ayurvedic Consultation
Ayurvedic Remedy for Typhoid FeverAyurvedic Remedy for Typhoid Fever

इसके लक्षणों के बारे में जानकर आपको टाइफाइड की गंभीरता का अंदाज़ा हो गया होगा। आईये अब आगे जानते है टाइफाइड को cure करने वाली रामबाण Ayurvedic Remedy के बारे में।

इस रेमेडी में हम विश्वसनीय आयुर्वेदिक काढ़े की मदद से टाइफाइड को दूर करने के तरीके के बारे में जानेंगे।

इस AYURVEDIC काढ़े को तैयार करने के लिए हमे 3 ingredients खूबकला , मुनक्का , अंजीर की आवश्यकता होती है।

  • इस काढ़े को बनाने के लिए 2 से 3 ग्राम खूबकला, 8 मुनक्के और 3 से 4 अंजीर को 400 ग्राम पानी में डालकर धीमी आंच पर उबालें। जब ये पानी 100 ग्राम रह जाये तो इस अच्छे से मैश करके पानी को छान लें। इस काढ़े का दिन में दो बार सेवन करें। 
Online Ayurvedic Consultation
Ayurvedic Remedy for Typhoid Fever
  • आयुर्वेद में सदियों से टाइफाइड के उपचार के लिए इस काढ़े का सेवन किया जाता रहा है। इसमें मौजूद खूबकला में विटामिन्स, मिनिरल्स, फाइबर और कार्बोहाइड्रेट के साथ इसमें ग्लूकोसिनोलेट्स नामक तत्व होते हैं जो कैंसर तक से लड़ने में मदद करते है।
Online Ayurvedic Consultation
Ayurvedic Remedy for Typhoid Fever
  • इसका सेवन से शरीर का तापमान नॉर्मल करने में मदद मिलती है। वहीं अंजीर में पोटैशियम, मैग्नीशियम, जिंक, कॉपर, मैगनीज़, आयरन,  कैल्शियम प्रोटीन फाइबर के साथ साथ अधिक मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट गुण पाए जाते हैं। इसके साथ ही मुनक्का में भी पोटैशियम और मैग्नीशियम भरपूर मात्रा में होता है। जो टाइफाइड से राहत दिलाने में मदद करता है। 

इस आयुर्वेदिक काढ़े के सेवन के साथ साथ अपने आहार और अपनी जीवनशैली में थोड़ा बदलाव लाएं। स्वच्छता का विशेष धयान रखें और जरुरत पड़ने पर किसी चिकित्सक की देखरेख में टाइफाइड की वैक्सीन लगवाएं।

स्वास्थ्य से जुडी नयी नयी जानकारी के लिए KAPEEFIT के साथ जुड़े रहिये।

BOOK ONLINE CONSULTATION
Online Ayurvedic Doctor Consultation

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -spot_img

Most Popular

Recent Comments

Book Online Consultation