Wednesday, February 21, 2024
spot_img
HomeFemale DiseasesThe First Trimester of Pregnancy

The First Trimester of Pregnancy

First Trimester of Pregnancy पहली बार मां बनने का अहसास बेहद खास और अलग होता है। सब कुछ नया महसूस करने वाली मां भीतर से थोड़ी डरी और खुश, एक साथ दोनों चीजों का अनुभव कर रही होती है। ऐसा इसलिए, पहली बार मां बनते समय कई ऐसी जरूरी बातें होती हैं जो महिलाओं को अच्छे से नहीं पता होती हैं।

लेकिन अपने और बच्चे के अच्छे स्वास्थ्य के लिए हर महिला को इन बातों का पता होना बहुत जरूरी है। आज इस Article में हम आपको इन 9 महीनो के पहले चरण यानी First Trimester of Pregnancy के बारे में detail में बताएंगे और बहुत सी महिलाओं के मन में first trimester को लेकर बने हुए डर को दूर करने का प्रयास करेंगे इसलिए Article के साथ अंत तक बने रहिये।The First Trimester of Pregnancy

First trimester यानी pregnancy के first 3 months बहुत ही important और sensitive होते है, क्यूंकि इस दौरान fetus का development बहुत तेज़ी से होता है और जरा सी लापरवाही या सही जानकारी का आभाव आपके baby के लिए कई complications पैदा कर सकता है।

ये महीने सबसे ज्यादा चुनौती-भरे दिन इसलिए भी होते हैं, क्यूंकि इन्हीं महीनों में अबॉर्शन की आशंका सबसे ज्यादा बनी रहती है। किन्तु आप बिलकुल न डरें एवं घबराएं। यदि आप हमारे द्वारा बताये गए suggestions एवं tips को follow करेंगी तो आपके First 3 months बहुत ही आसानी से एवं अच्छी तरह से बीतेंगे और आप प्रेगनेंसी के दौरान होने वाले किसी भी complications से बच सकती है और एक healthy baby को जन्म दे सकती है।The First Trimester of Pregnancy


Read MoreEffective Tips To Prevent Vaginal And Fungal Infections During Monsoons


FIRST TRIMESTER OF PREGNANCY

Pregnancy के दौरान बेबी की HEALTHY GROWTH के लिए MOTHER को FOLIC ACID , IRON , CALCIUM , VITAMIN A , ZINC , VITAMIN D जैसे नुट्रिएंट्स दिए जाते है। ये सभी नुट्रिएंट्स FETAL के सभी BODY PARTS की PROPER GROWTH के लिए IMPORTANT होते है। 

आयुर्वेद की दृष्टि से देखा जये तो इस समय रस व रक्त धातु में परिवर्तन होता है। जिस कारण शरीर में पित्त की वृद्धि होती है। अतः ऐसी स्थिति में आपको पित्त को शमन करने के उपाय अपनाने चाहिए।

Online Ayurvedic Consultation
The First Trimester of Pregnancy

इस दौरान मिलने वाले कुछ Symptoms Normal होते है, जिनकी Severity हर महिला में अलग अलग हो सकती है। जैसे सबसे Common Symptom है Morning Sickness – इसकी शिकायत लगभग सभी महिलाओं की होती है। इसके अलावा Nausea, Vomiting, heartburn, acidity आदि साथ ही excess saliva, खट्टी चीज़ों को खाने की इच्छा, breast tenderness, skin changes, milk secretion in breast, किसी भी प्रकार की सुगंध को सहन न कर पाना जैसे symptomps भी प्रेग्नेंट महिला में देखने को मिलते है।The First Trimester of Pregnancy

Symptoms to Overcome During First Trimester of Pregnancy

इन सभी सिम्पटम्स को overcome करने में आप home remedies की मदद ले सकती है।

इस समय आप सौंफ का पानी दिन में थोड़ा थोड़ा करके पियें। इसके लिए आपको लगभग 4 चम्मच सौंफ को 1.5 लीटर पानी में 15 से 20 मिनट तक उबाल लें व ठंडा करके दिन में थोड़ा थोड़ा पियें। ऐसा करने से आपको nausea और vomiting में आराम मिलेगा।

Online Ayurvedic Consultation
The First Trimester of Pregnancy

सामान्यतः महिलाओं को सुबह के समय चक्कर, कमजोरी की भी शिकायत रहती है क्यूंकि सुबह के समय आपका sugar level थोड़ा down होता है। इसके लिए आप किशमिश के पानी का सेवन करें। इसके लिए आपको 8 से 10 किशमिश रात को पानी में भिगोकर रख दें। सुबह उठते ही यह पानी किशमिश के साथ लें लें।

क्यूंकि इस दौरान शरीर में पानी की कमी हो जाती है अतः आपको भरपूर पानी पीना व अधिक से अधिक Liquid Diet लें। पानी को थोड़ा थोड़ा करके बार बार पियें। साथ ही साथ बहुत देर तक भूखे पेट न रहें। इसके लिए आप Small और Frequent Meal लें। 

इन symptoms के साथ साथ यदि आपको Abdominal Cramps या Vaginal Bleeding हो तो तुरंत अपने Doctor से consult करें।The First Trimester of Pregnancy 

प्रेग्नेंसी के दौरान किसी भी महिला को ज्यादा भीड़भाड़, प्रदूषण और रेडिएशन वाली जगह पर जाने से बचना चाहिए। इसके अलावा ऊबड़-खाबड़ रास्तों पर ट्रैवलिंग करने, लंबे समय तक खाली पेट रहने और अधिक मिर्च का सेवन करने से भी बचना चाहिए। महिलाओं को कोशिश करनी चाहिए कि वो थोडे-थोडे अंतराल पर कुछ-कुछ खाती रहें और फल, नारियल पानी या ग्लूकोज मिला पानी आदि लेती रहें।

जैसा की हमने पहले भी बताया की First Trimester में Miscarriage के Chances अधिक होते है और इसके risk को कम करने के लिए आपको5 कुछ चीज़ों को avoid करना चाहिए। 

जैसे Alcohol, Smoking, Caffine के सेवन से आपको Premature Delivery या Miscarriage या होने वाले baby में किसी भी प्रकार के complications मिल सकते है। अतः alcohol smoking को completely avoid करें। व caffine का सेवन भी limited amount में ही करें।

Raw Vegetables, Uncooked Food, बाहर की चीज़ों का सेवन बिलकुल न करें, even पानी भी बाहर का न पियें, personal hygiene maintain रखें। जिससे किसी भी प्रकार के इन्फेक्शन से बच सके।The First Trimester of Pregnancy 

Avoid Self Medication – बहुत सी महिलाऐं इस दौरान सिरदर्द कमरदर्द , बुखार आदि होने पर स्वयं ही दवा ले लेती है। किन्तु ऐसा बिलकुल भी न करें क्यूंकि First Trimester में अधिकतर Medical Complications होती है। बिना चिकित्सकीय परामर्शः के दवा लेने से Miscarriage हो सकता है। अतः कोई भी समस्या होने पर अपने डॉक्टर से Consult करके ही मेडिसिन लें। 

Avoid Heavy Weight Lifting – इस दौरान कोई भी भारी वजन जैसे पानी की बाल्टी या अन्य सामान उठाने से बचे।

स्वास्थ्य से जुडी नयी नयी जानकारी के लिए KAPEEFIT के साथ जुड़े रहिये।

The First Trimester of Pregnancy

BOOK ONLINE CONSULTATION
Online Ayurvedic Doctor Consultation

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -spot_img

Most Popular

Recent Comments

Book Online Consultation