Sunday, February 25, 2024
spot_img

Male Infertility

क्या आप Male Infertility का शिकार है ? तो अपनाएं आयुर्वेदिक उपचार

Male Infertility मेल इनफर्टिलिटी एक ऐसी गंभीर बीमारी है जिसमे कोई पुरुष पिता बनने योग्य नहीं होता है। present time में unbalanced lifestyle और diet के कारण मेल infertility की समस्या बढ़ती जा रही है। और अगर समय रहते इसका इलाज न किया जाये तो ये भविष्य में खतरा भी बन सकती है। 

लेकिन आयुर्वेद के माध्यम से male इनफर्टिलिटी की समस्या से बचा जा सकता है। इस वीडियो में हम आपको male इनफर्टिलिटी से सम्बंधित सभी जानकारी step by step देंगे इसलिए Article के साथ अंत तक बने रहिये

REPORTS की माने तो विश्व भर में लगभग 7 में से 1 जोड़ा INFERTILE है जिसका अर्थ है कि वो गर्भधारण करने में सक्षम नहीं है। 

MALE INFERTILITY

INFERTILITY की CONDITION तब पैदा होती है जब कोई दंपति 1 साल या उससे अधिक समय तक प्रयास के बाद भी गर्भधारण न कर पाए। और इसमें से आधे जोड़ों के गर्भधारण न करने का कारण MALE INFERTILITY पाया जाता है।

SYMPTOMS OF INFERTILITY

पुरुषों में बांझपन के बहुत से लक्षण देखे जाते है जो person to person vary करते हैं। जिसमे से कुछ सामान्यतः दिखने वाले लक्षणों के बारे में आज हम आपको बताएंगे 

Online Ayurvedic Consultation
Male Infertility
  • पुरुषों में बांझपन का मुख्य लक्षण है कि लम्बे समय तक प्रयास करने के बाद भी महिला को गर्भवती करने में सक्षम न होना।
  • टेस्टिकल की नसों का फैल जाना या शुक्राणु नली का ब्लॉक होना।
  • यौन-संबंध बनाने में समस्या होना।
  • टेस्टिकल और इसके आसपास की जगहों में दर्द, सूजन और गांठ का बन जाना।
  • असामान्य रूप से छाती का बढ़ना जिसे Gynecomastia कहा जाता है।
  • शरीर और चेहरे पर बालों का कम होना।
  • LOW स्पर्म काउंट होना यानि वीर्य में 15 मिलियन/ मिलीलीटर से कम शुक्राणु का होना।
  • क्रोमोजोम में Abnormality या हॉर्मोन में असंतुलन भी पुरुष बांझपन के कारण हो सकते हैं। 

अगर आप ऐसे किसी भी लक्षणों को महसूस कर रहे हैं तो आपको तुरंत चिकित्सक से सलाह लेनी चाहिए , ताकि ये बीमारी गंभीर रूप न ले सके।

CAUSES OF MALE INFERTILITY

मेल इनफर्टिलिटी के कारणों की बात की जाए तो इसके बहुत से कारण देखे जाते है जिसमे से मुख्य कारण वीर्य में शुक्राणुओं की कमी माना जाता है। जब पुरुषों के शुक्राणुओं की गुणवत्ता, आकार, गतिशीतला, मात्रा या संख्या में विकार उत्पन्न हो जाता है तो वीर्य से संबंधित तरह-तरह की बीमारियां हो जाती है। एक सर्वे के अनुसार पुरुष INFERTILITY लगभग 40% तक पहुँच चुकी है।

Online Ayurvedic Consultation
Male Infertility

SKIN CARE ROUTINE

इसके अलावा और भी बहुत से कारण मेल इनफर्टिलिटी के देखे जाते हैं। 

  • तम्बाकू, अल्कोहल या किसी नशीली ड्रग्स का सेवन करना 
  • हार्मोन में अनियमितता होना 
  • वजन ज्यादा होना
  • स्टेरॉयड का सेवन करना 
  • ट्यूमर या किसी लम्बे समय तक चलने वाली बीमारियों से पीड़ित होना 
  • कुछ ख़ास दवाइयों के सेवन या मेडिकल ट्रीटमेंट के कारण भी मेल इनफर्टिलिटी की सम्भावना रहती है। 

इन सभी समस्याओं के कारण ही पुरुष निःसंतानता का शिकार होते है लेकिन आपको बिलकुल भी घबराने की कोई जरूरत नहीं है क्यूंकि अब हम आपको बताएँगे कि आयुर्वेद की सबसे प्राचीन चिकित्सा पद्धति पंचकर्म की मदद से पुरुष निःसंतानता अथवा बाँझपन का समाधान कैसे किया जा सकता है।

AYURVEDIC UPCHAR

वैसे तो आयुर्वेद में MALE INFERTILITY के लिए काफी उपचार उपलब्ध है। आयुर्वेद में बहुत सी ऐसी औषधियां हैं, जो पुरुष के वीर्य में सुधार करके उनकी प्रजनन क्षमता को बढ़ाती हैं। प्राकृतिक तरीके से MALE INFERTILITY को दूर करने में किसी भी प्रकार का कोई दुष्प्रभाव नही होता है।

आयुर्वेद की प्राचीन पंचकर्म चिकित्‍सा पद्धति के द्वारा बहुत ही कम समय में पुरुष वीर्य से संबंधित विकार दूर किये जा सकते हैं । पंचकर्म की उत्तर बस्ती पद्धति वीर्य संबंधित विकार को दूर करने के लिए सबसे अच्छी थेरेपी मानी जाती है।

पंचकर्म में सबसे पहले तो पुरुष के शरीर में होने वाले विकारों को शांत किया जाता है। जिससे बीमारी से बहुत ही जल्द राहत मिल जाती है और ये पद्धति रोग को जड़ से दूर करती है जिससे रोग के होने की संभावना बिल्कुल कम हो जाती है।

PREVENTIONAL TIPS

अगर आप इनफर्टिलिटी की समस्या से गुज़र रहे हैं तो आपको TREATMENT के साथ साथ कुछ PREVENTIONAL टिप्स को फॉलो करने से इस समस्या को दूर करने में बहुत मदद मिलेगी।

  1. अल्फा अमीनो एसिड SUPPLEMENTS को अपने ROUTINE में शामिल करें। 
  2. EXERCISE को DAILYLIFE का पार्ट बनाएं। RELAX रहें और STRESS न लें। 
  3. ZINC और विटामिन C युक्त भोज्य पदार्थ लें। 
  4. विटामिन D की मात्रा बढ़ाएं। 
  5. ट्रिबुलस टेरेस्ट्रिस यानि छोटा गोखरू की 6 ग्राम जड़ को 2 महीने तक दिन में दो बार ERECTILE DYSFUNCTION और LIBIDO में IMPROVEMENT के लिए सेवन करें। 
  6. FENUGREEK SUPPLEMENTS का सेवन LIBIDO , SEXUAL PERFORMANCE और STRENGTH को BOOST करने के लिए करें। 
  7. अश्वगंधा और माका ROOT का सेवन करें। 

बताई गयी सभी औषधियों को किसी आयुर्वेदिक चिकित्सक के निरीक्षण में ही सेवन करें। ये सभी PREVENTIONAL TIPS आपको MALE INFERTILITY से निजात दिलाने में मदद करेंगे।

स्वास्थ्य से जुडी नयी नयी जानकारी के लिए KAPEEFIT के साथ जुड़े रहिये।

BOOK ONLINE CONSULTATION

Online Ayurvedic Doctor Consultation

Previous article
Next article
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -spot_img

Most Popular

Recent Comments

Book Online Consultation