Monday, February 26, 2024
spot_img

Migraine Symptoms

कैसे पहचाने सिर दर्द है या माइग्रेन का दर्द

Migraine Symptoms आज के लाइफस्टाइल में सिरदर्द एक COMMON PROBLEM है जिसका मुख्य कारण बदलती दिनचर्या है। आमतौर पर लोग सिर में होने वाले किसी भी प्रकार के दर्द को माइग्रेन मान लेते हैं जबकि माइग्रेन और सामान्य सिर दर्द दोनों अलग अवस्थाएं हैं।

आज इस Article में हम आपको माइग्रेन दूर करने के उपचार के बारे में बताएंगे इसलिए Article के साथ अंत तक बने रहिये

WHO के अनुसार दुनिया में 18-65 वर्ष की आयु के आधे से तीन चौथाई वयस्कों को पिछले वर्ष सिरदर्द हुआ था और उन व्यक्तियों में से 30% से अधिक लोगों में होने वाला ये दर्द माइग्रेन था।
15 दिन या उससे अधिक दिनों तक होने वाला सिरदर्द हर महीने दुनिया की 1.7-4% वयस्क आबादी को प्रभावित करता है।

Online Ayurvedic Consultation

Migraine Symptoms

माइग्रेन का मुख्य लक्षण सिरदर्द होता है लेकिन यह सामान्य रूप से होने वाले सिरदर्द से काफी अलग होता है। सिर में होने वाला  सामान्य दर्द थकान, भूख लगने और नींद न आने के जैसे कारणों से होता है लेकिन यह दर्द TEMPORARY होता है। सामान्यतः दर्द सिर के दोनों हिस्सों में आँखों के आसपास होता है जबकि माइग्रेन सिर के पिछले हिस्से में या फिर आधे सिर में दर्द होता है। यह दर्द कुछ घंटों से लेकर कई दिनों तक बना रहता है। 

यह आमतौर पर DISTURBED VISION, प्रकाश और ध्वनि के प्रति संवेदनशीलता और मतली के साथ शुरू होता है। Sudden stress, anxiety, depression, dehydration, smells, noise and sunlight, Menstruation, high sugar in the diet, alcohol, too much screen time and diet माइग्रेन के ट्रिगर एजेंटों में से हैं।

FUNGAL INFECTION

मॉडर्न साइंस के हिसाब से माइग्रेन का कोई PERMANENT इलाज नहीं होता है लेकिन आयुर्वेद में औषधियों और पंचकर्म के द्वारा दी जाने वाली चिकित्सा से माइग्रेन का इलाज संभव हो सकता है।
आयुर्वेद के अनुसार माइग्रेन का मुख्य कारण खराब खानपान और लाइफस्टाइल होता है जिसके कारण शरीर में वात पित्त और कफ दोष प्रभावित होते हैं। और माइग्रेन अपनी जगह ले लेता है।

Migraine Symptoms

अभी तक हमने जाना की माइग्रेन में होने वाला सिर दर्द , सामान्य सर दर्द से कैसे अलग होता है और अब जानते है कि माइग्रेन में होने वाले दर्द को हम कैसे कम कर सकते हैं।

Online Ayurvedic Doctor Consultation

माइग्रेन के दर्द को कम करने सबसे पहला उपाय आता है ICE PACK .
माइग्रेन की वजह से मांसपेशियों की सूजन को कम करने में आइस पैक काफी फायदेमंद होता है। इसके लिए एक साफ टॉवल में आइस के कुछ टुकड़े रखें और उससे सिर, माथे और गर्दन के पीछे 10-15 मिनट सिकाई करें।
दूसरा उपाय आता है हेड MASSAGE

Online Ayurvedic Consultation
Migraine Symptoms

माइग्रेन के दर्द को कम करने के लिए सिर के पीछे के हिस्से की मालिश करने से माइग्रेन के दर्द में राहत मिलती है इसके साथ ही हाथ पैरों की मालिश भी करनी चाहिए। इससे शरीर में रक्त संचार बढ़ता है।


तीसरा उपाय आता है गाय का शुद्ध देसी घी।

Online Ayurvedic Consultation
Migraine Symptoms


माइग्रेन के दर्द को कम करने के लिए गाय का शुद्ध देसी घी सबसे कारगर उपायों में से एक है। माइग्रेन के उपचार के लिए रात को सोते समय गाय का शुद्ध देसी घी 1 -1 बूँद नाक में डालकर सो जाये।

Migraine Symptoms

यह सभी उपाय माइग्रेन के लिए बहुत कारगर है और इनका कोई SIDE EFFECT भी नहीं है। अगर आपको माइग्रेन के SEVERE SYMPTOMS महसूस हो रहे है तो तुरंत किसी आयुर्वेदिक चिकित्सक से सलाह लें। 

स्वास्थ्य से जुडी नयी नयी जानकारी के लिए KAPEEFIT के साथ जुड़े रहिये।

BOOK ONLINE CONSULTATION
Online Ayurvedic Doctor Consultation

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -spot_img

Most Popular

Recent Comments

Book Online Consultation